“Bail In” in Social Media: Don’t Worry!!

While a lot many queries have come across my way in groups and individual chats, I tried to ignore most of them for quite a while 🙂

However thought that ignoring such messages would add to more curiosity amongst many minds and so thought of giving my views onto the same!!

I must put it this way that many times Mr Arun Jaitley has already addressed this concern by stating that all depositors money in Banks are safe and this Bail in has nothing to do with taking away hard earned depositors money to bail out the Banks in trouble.

In my opinion, this is just a created hype by opposition parties to create discomfort amongst many while Gujarat elections are underway….Our Economy is quite stable and robust to bail out any banks in case they go bankrupt.

Such Bill is only aimed at making the Banking system more robust and would never mean that any one of us hard earned money shall go for a toss in bailing out such Banks!!

The Govt had recently infused Rs 2.11 Lakh Crores in the banking system to make certain NPAs good. Additionally the Govt has also told that they shall make all the Deposits Good in case such a situation arises which in my opinion is quite distant and improbable.

This has time and again being clarified by Honble Finance Minister and I guess today by Sh Narendra Modi as well!!

All’s well Doston!!

सामाजिक मीडिया में “जमानत”: चिंता न करें !!

जबकि कई सारे प्रश्न समूहों और व्यक्तिगत चैट में मेरे सामने आए हैं, मैंने उनमें से ज्यादातर को काफी समय तक अनदेखा करने की कोशिश की थी। 🙂

हालांकि, सोचा था कि इस तरह के संदेशों को नजरअंदाज करना कई दिमागों में अधिक जिज्ञासा को जोड़ देगा पर अब मैंने इस पर अपने विचार व्यक्त करने के बारे में सोचा!!

मुझे इसे इस तरह रखना चाहिए कि कई बार श्री अरुण जेटली ने पहले भी इस चिंता को संबोधित करते हुए कहा है कि बैंकों में सभी जमाकर्ताओं के पैसे सुरक्षित हैं और इस Bail in में मुश्किल से अर्जित जमाकर्ताओं को पैसे का कोई नाता नहीं है। बैंकों कि परेशानी का हला इस पैसे से नहीं निकलगा।

मेरी राय में, विपक्षी दलों द्वारा गुजरात चुनाव में असुविधा पैदा करने के लिए यह सिर्फ एक ऐसा प्रचार है … हमारी अर्थव्यवस्था काफी स्थिर और मजबूत है तथा किसी भी बैंक को दिवालिया होने से बचा सकता है।

ऐसे विधेयक का उद्देश्य केवल बैंकिंग प्रणाली को और अधिक मजबूत बनाने का है और इसका मतलब यह नहीं है कि हमारी कड़ी मेहनत से कमाया पैसे इन बैंकों को बचाने पर इस्तेमाल किया जाएगा!!

सरकार ने हाल ही में कुछ NPA को अच्छा बनाने के लिए बैंकिंग प्रणाली में 2.11 लाख करोड़ रुपये का निवेश किया था। इसके अतिरिक्त सरकार ने यह भी कहा है कि अगर ऐसी स्थिति सामने आती है तो वे सभी Deposits को अच्छा बनाते हैं, जो मेरी राय में काफी दूर और असंभव है।

माननीय वित्त मंत्री द्वारा इस बार स्पष्ट किया जा रहा है और मुझे लगता है कि आज माननीय श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा भी संबोधित किया गया है!

All’s well Doston!!